देश की वित्तीय हालत

आंकड़ों के साथ रखी प्रदेश की वित्तीय हालत


वित्त मंत्री ने प्रदेश की वित्तीय हालत को लेकर आंकड़ों के साथ अपनी बात रखी। वित्त मंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा बार-बार लोगों को गुमराह करने का काम कर रहे हैं। हरियाणा प्रदेश देश के श्रेष्ठ राज्यों में है, जो एक आदर्श वित्तीय हालात में है। वित्त मंत्री ने आंकड़ों में समझाया की कांग्रेस शासनकाल 2014-15 दौरान प्रदेश में वेतन और डीएपर 13296 करोड़ खर्च होता था, वर्तमान में वर्ष 2019-20 की बात करें, तो इसमें 65 फीसदी वृद्धि हुई है, जो बढ़कर 21902 करोड़ हो गया है। इस समय वेतन और पेंशन बढ़कर 30 हजार करोड से ज्यादा हो गया है। 2014-15 में समाज कल्याण पर 1753 करोड़ खर्च होता था, अब यह बढ़कर 6187 करोड़ हो गया है, अर्थात 253 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। वित्त मंत्री ने बताया कि हमने बीच में बिचौलिए और फर्जीवाड़ा खत्म करने का काम किया है। जिसके कारण 1178 करोडकी राशिबचा चुके हैं, डीबीटी अर्थात सीधा लाभ लोगों को उनके खातों में दिए जानेके कारण फर्जीवाड़ा कर पैसा जेबों में भरने वालों के काम पर रोक लगी है।