बसो में मुफ्त सफर

बसों में मुफ्त सफर को आज मंजूरी की संभावना


बस में महिलाओं को मुफ्त सफर के लिए जरूरी और अंतिम मंजूरी सोमवार को मिलने की संभावना है। परिवहन मंत्री और डीटीसी बोर्ड के चेयरमैन कैलाश गहलोत ने सोमवार को इसे लेकर डीटीसी बोर्ड की बैठक बुलाई है। सूत्रों के अनुसार, इस बैठक का मुख्य एजेंडा महिलाओं के मुफ्त सफर योजना को मंजूरी देना है। बसों में महिलाओं के मुफ्त सफरकी योजना को 29 अक्तूबर से लागू किया जाना है। इसे लेकरसरकारकी कैबिनेट पहले ही मंजूरी दे चुकी है। इसके लिए जरूरी 150 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान भी सरकार पहले ही कर चुकी है। बजट को विधानसभा से भी मंजूरी भी मिल चुकी है। योजना को लागू करने के लिए आखिरी और अनिवार्य मंजूरी डीटीसी (दिल्ली परिवहन निगम) बोर्ड से मिलना बची है। इसे लेकर सोमवार को बैठक बुलाई गई है। परिवहन मंत्री महिलाओं को गुलाबी टिकट दिए जाएंगे डीटीसी बसों मे आपको अभी ईटीएम से टिकट निकालकर दिया जाता है। मगर, महिलाओं को मुफ्त सफर कराने के लिए सरकार उन्हें प्रिंट किया हुआ टिकट देगी। टिकट का रंग गुलाबी होगा। प्रत्येक टिकट की कीमत 10 रुपये होगी। डीटीसीया क्लस्टर की बसें जितनी भी टिकट जारी करेगी उन्हें सरकार उसी के हिसाब से पैसा लौटाएगी। टिकट के प्रिंटिग का काम भी बोर्ड की मंजूरी के बाद शुरू होगा। कैलाश गहलोत मंगलवार को यूरोपीय देशों की यात्रा पर जा रहे हैं। तीन दिनों की इस यात्रा के दौरान वह वहां ई-बस का परिचालन करने वाले देशों जैसे स्वीडन, फ्रांस, बेल्जियम की यात्रा करेंगे। यही वजह है कि यात्रा पर जाने से पहले महिलाओं के मुफ्त सफर की योजना के लिए यह बैठक बुलाई है। योजना को लागू करने में एक महीने का समय बचा हुआ है। ऐसे में डीटीसी अपनी तैयारी शुरू कर सके इसलिए भी यह मंजूरी अनिवार्य है।