स्टूडेंट बनकर आए, डाली डकैती

स्टूडेंट बनकर आए, बिजनेसमैन के परिवार को बंधक बना डाली डकैती


मुखर्जी नगर में बुधवार को हथियारों से लैस बदमाश दिनदहाड़े एक कारोबारी के घर से लाखों की डकैती कर फरार हो गए। बदमाशों ने कारोबारी की पत्नी, बेटे और नौकरानी के हाथ-पैर बांधकर उन्हें बंधक बना लिया था। इसके बाद अलमारी के लॉकर से जूलरी और कैश ले गए। फरार होने से पहले बदमाश बाहर से दरवाजे की कुंडी लगा गए। सूचना मिलते ही मुखर्जी नगर थाने की पुलिस और डीसीपी विजयंता आर्य भी पहुंची। छानबीन के बाद लूट का केस दर्ज कर लिया गया है। चर्चा है कि बदमाश 40 लाख की जूलरी और करीब 20 लाख रुपये ले गए है। बता दें कि चार दिन पहले ही एक नामी जलर को उनके घर के बाहर गोली मारकर बदमाश 25 लाख रुपये लूट ले गए थे। पुलिस इस मामले को सुलझा भी नहीं पाई थी कि बुधवार को यह डकैती पड़ गई। हफ्ते भर में मुखर्जी नगर के अंदर तीसरी बड़ी वारदात से लोग सहमे हुए हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, डकैती की यह वारदात परमानंद कॉलोनी हाउस नंबर-1 में हुई है। कॉर्नर पर मित्तल बने तीन मंजिल मकान के ग्राउंड फ्लोर पर 4 दुकानें बांधकर बनी हुई हैं। जबकि फर्स्ट फ्लोर पर कारोबारी राकेश मित्तल पत्नी राजरानी और 23 साल के बेटे के साथ रहते हैं। उनकी प्लास्टिक शीट की फैक्ट्री है। इसके अलावा पॉश एरिया कल्याण विहार के सीसी कॉलोनी में भी उनका एक घर है। उनके घर में 4-5 नौकर काम करते हैं। बुधवार सुबह राकेश सीसी कॉलोनी वाले घर गए हुए थे। पीड़ित परिवार का कहना है कि सुबह के समय 5-6 लड़के स्टूडेंट बनकर पहुंचे। उन लड़कों ने खाली पड़े ऊपरी फ्लोर को किराए पर लेने की इच्छा जाहिर करते हुए दिखाने की बात खिलाफ कही। इसके बाद जबरन अंदर दाखिल हो गए और मित्तल की पत्नी, बेटे व नौकरानी के हाथ-पांव बांधकर बंधक बना लिया। बदमाश शोर न मचाने की धमकी देते हुए हथियार ताने रहे। इसके बाद कैश व जूलरी बैग में रखकर फरार हो गए। 9 बजे हुई इस वारदात की पुलिस को कॉल की गई। बताया गया कि एक नौकर ने घर पहुंचकर सभी के हाथ-पांव खोले। पुलिस ने आसपास के तमाम सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को कब्जे में लेकर तफ्तीश शुरू कर दी है। ।