मजदूर संघ, आज मिलेंगे सीएम से

केएसके प्रबंधन के खिलाफ लामबंद मजदूर संघ, आज मिलेंगे सीएम से


केएसके महानदी प्रबंधन के खिलाफ छत्तीसगढ़ पॉवर मजदूर संघ ने मोर्चा खोल दिया है। दरअसल पिछले दिनों हुए लॉक आउट के बाद समझौता बैठक के अनुरूप प्लांट तो शुरू हो गया, परंतु 35 यूनियर लीडर के खिलाफ जो निलंबन की कार्रवाई की गई है, उससे मजदूर नाराज है। ___ गुरूवार 26 सितंबर को छग पॉवर मजदूर संघ के सभी पदाधिकारी और सदस्यों की बैठक नरियरा के भगत कुंआ के पास हुई, जहां उन्होंने प्रबंधन पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया। मजदूरों का कहना था कि समझौता बैठक के अनुसार सभी मजदूरों को काम पर जाना है। परंतु प्रबंधन द्वारा यूनियन लीडर को टारगेट किया जा रहा है और 35 लोगों को प्रवेश नहीं दे रहे है। जबकि पूर्व में हुए यूनियन बिल देकर काटा कनेक्शन कनेक्शन कनेक्शन और प्रबंधन की बैठक में समान काम के लिए समान वेतन का जो निर्णय हुआ था, उस पर भी पहल नहीं हुई है। ऐसे में उन्होंने बैठक में प्रबंधन के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की। तत्पश्चात कारखाना प्रबंधन के खिलाफ ज्ञापन सौंपा। इसके अलावा शुक्रवार 27 सितंबर को राजधानी रायपुर जाकर प्रदेश के मुख्यमंत्री और शासन के उच्चाधिकारियों के समक्ष अपनी बात रखने का निर्णय लिया गया हैइस संबंध में पॉवर मजदूर संघ के बलराम गोस्वामी ने बताया कि बैठक में रायपुर जाकर सीएम के समक्ष अपनी बात रखने का निर्णय लिया गया है।