दैनिक समाचार, नई दिल्ली - आज दिल्ली के युवाओं को शराब के ठेकों पर लम्बी - लम्बी कतारों में देखकर दिल्ली विचलित हो रही है, दिल्ली की भोली भाली जनता को कौन है जो नशे की लत लगाकर दिल्ली को हमेशा के लिए अपना गुलाम बनाना चाहता है ?

आपको याद होगा स्वराज का झूठा सपना दिखाकर जन लोकपाल बिल का झूठा ढोंग करके युवाओं को रोजगार की गारन्टी देने वाला दिल्ली के युवाओं को नशे की लत लगाकर खुशहाल दिल्ली को नरक बनाना चाहता है I 

एक बोतल के साथ एक बोतल शराब धडल्ले से बिकवा  रहा है आलम यह कि ठेके एक वर्ष में मात्र तीन दिन ही बन्द रहेंगे और एक तरफ बैंक हफ्ते में दो दिन बन्द रहती है सोचो यह विकास है या विनाश ? दिल्ली के युवाओं को नशे की तरफ आकर्षित प्रायोजित तरीके से कौन कर रहा है अगर आज दिल्ली चुप बैठी तो हो सकता है हम सब दिल्ली की बर्वादी नहीं रोक पायेंगे फैसला आपको करना है ?

नशे की लत के कारण खुशहाल पंजाब वर्वाद हो रहा है, दिल्ली भी अब नशे की चपेट में हैं, दिल्ली का युवा दिल्ली के साथ – साथ देश का उज्ज्वल भविष्य है । सरकार महिलाओं के लिए अलग से ठेके खोलने जा रही  है, दिल्ली में महिलाएं भी नशे की चपेट में आ रही हैं दिल्ली में किशोर अवस्था के बच्चे भी नशा कर रहे हैं । दिल्ली में शराब का सेवन जहरीली हवा की तरह फैल रहा है और लाखों घरों को बर्वाद कर रहा है ।

शराब से होने वाली बीमारियां

जानकार बताते हैं शराब से कैंसर होता है, शराब गले, लिवर, स्तन को डेमेज करती है, इससे पुरुषों में इन्फर्टिलिटी या सेक्सुअल डिस्फंक्शन की भी समस्या बढ़ जाती है I शराब पीने से हमारी आंत कमजोर हो जाती है जिससे वह कैल्‍शियम और विटामिन डी अवशोषित नहीं कर पाता इन जरुरी मिनरल्‍स की कमी की वजह से हड्डियों पर बड़ा ही बुरा असर पड़ता है, लिवर डैमेज इसको ज्‍यादा पीने से सिरोसिस हो जाता है जिससे लिवर में घाव हो जाता है, इससे इंसान की मृत्‍यु भी हो सकती है I

अधिक मात्रा में शराब का सेवन वीर्य को नुकसान पहुंचाता है. इससे वीर्य की क्‍वालिटी घट जाती है साथ ही इससे हार्मोन का संतुलन भी बिगड़ जाता है, जिससे शुक्राणुओं पर बुरा असर पड़ता है, इसके परिणामस्वरूप व्यक्ति नपुंसक भी हो सकता है I

रिसर्च के माध्‍यम से पता चला है कि ज्‍यादा शराब के सेवन से दिल की मासपेशियां कमजोर पड़ने लगती हैं, जिससे हृदय तक पहुंचने वाला रक्‍त सही गति से उस तक नहीं पहुंच पाता इसके आलावा इससे हार्ट अटैक, स्‍ट्रोक और हाई बीपी भी हो सकता है I

नशा करने के बाद इंसान अपना मानसिक संतुलन खो बैठता है, जिस कारण वह अपने आप को काबू नही कर सकता और नशे के चलते हर जगह झगड़ा करना, अपशब्द बोलना, गाली गलौज करना, घर पर कलेश मचाना आदि कृत्य करता है जबकि यह सरासर जुर्म की श्रेणी में आता है। नशे की हालत में वाहन चलाना अपनी मौत के साथ – साथ दूसरों की मौत को दावत देना है ।

इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगदीश सिकरवार ने दिल्ली सरकार को पूर्ण स्वार्थी बता दिया और पार्टी की महिला मोर्चा की सेकड़ों बहनों ने कहा हम सब जनहित जनता पार्टी के “नशा मुक्त दिल्ली” अभियान से सहमत हैं एवं शपथ लेते हैं, दिल्ली को विश्व की नशा मुक्त राजधानी बनाएंगे I

इस अभियान का आयोजन गोकुलपुर विधानसभा महिला मोर्चा उपाध्यक्ष, श्री मति इन्दु रानी  एवं  गोकुलपुर विधानसभा, सचिव श्री सेंसर पाल (सोनू) की अध्यक्षता में हुआ I  एवं जल्द ही पार्टी हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत भी करेगी I    

Featured Post

जनहित जनता पार्टी, ईस्ट ज्योति नगर कार्यालय में साप्ताहिक बैठक सम्पन्न हुई दै निक समाचार, उत्तर पूर्वी दिल्ली - दिनांक 15 मई, 2022 दिन रविवा...